Subscribe Us

nind ki upkarita(नींद की उपकरिता या फायदे)

              नींद की उपकरिता या फायदे.  

                 
नींद की उपकरिता या फायदे( nind ki fayde)


                                                                                            नमस्कार दोस्तों,
एकदम से बदल चुकी जीवनशैली तौर तरीके, health देर रात तक पार्टी के साथ और काम करने के बाद जल्दी सोना सपने जैसा हो गया है। लेकिन आप जानते हैं जो सोने कितने फायदे होते हैं हम आपको बताते हैं।

 जल्दी सोना:
रात में जल्दी सोने से सुबह जल्दी उठना सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। समय से खाना खाने के बाद घर पर टीवी देखने बजाय आप जल्दी बिस्तर पर जाए तो आपकी लंबी और स्वस्थ जिंदगी देगी । शरीर को रिचार्ज करने के और स्वस्थ रहने के लिए भी भरपूर नींद की जरूरी होती है।
इससे आपके मन को बहुत खुशी और मूड भी हमेशा अच्छा ही रहेगा, खिला-खिला सा रहेगा। ऐसी ही आपका मन बहुत ही फ्रेश हो जाएगा । शरीर में थकान आपको महसूस नहीं होगी।

दूर होती है थकान:
सोने से हमारे शरीर को  दिन भर की थकान और बहुत अच्छा होने का अवसर मिलता है । रात में ना सुने से मस्तिष्क के काम करने की क्षमता पर बुरा असर पड़ सकता है ।  सोने से समझने की प्रक्रिया कम हो जाती है बल्कि इसका शारीरिक स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है।इससे तनाव रक्तचाप और मोटापा बढ़ता है।

त्वचा में निखार:
कम सोने वाली महिलाओं की स्थिति और शुद्ध संवेदनशील प्रतिक्रिया कम होती ह। काम साइट से आखों के नीचे काला सा धब्बा हो जाती है।नींद  पूरी ना हो तो शरीर बरने  की बजाय शरीर नष्ट होने का काम नींद की वजह से  ही होते है।

टाइम मैनेजमेंट:
समय से सोने के कारण हमारे नींद ठीक से पूरी हो जाती है टाइम मैनेजमेंट भी ठीक ढंग से कर पाते हैं । रात में देर से सोएंगे अपने एक से लेकर आगे की सारे कामों का टाइम बिगड़ जाएगा। समय से सोना लाभदायक होता है।

दिखेंगे फ्रेश फ्रेश:
अगर आप रात में 7 से 8 घंटे सोते है तो आप सुबह बेहतर मेहेसुस  करेंगे ।इससे नींद पूरी होने के लिए जरूरी है कि आप जल्दी सो जाएं ।आपको सुबह 6:00 बजे उठना है आप जल्दी सोने नहीं जा सकते  तो आप टाइम को 15 पहले करे ले।  पहले पहले आपको नींद नहीं अयिगी क्योंकि  आपका सोने टाइम नहीं हुआ है।अगर आप एक साथ ऐसा करेंगे तो आपको नींद आ जाएगी। 

नहीं भरता भजन:
नींद हमारे ग्रहण की जाने वाली और शारीरिक सक्रियता पचाई के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली केरी के बीच संतुलन बनाए रखता है। मोटापा और मधुमेह के इलाज के लिए नींद में सुधार करना जरूरी होता है ।नींद नहीं लेने पर वजन बढ़ने की और मधुमेह होने की  अहशंखा बढ़ जाता है इसलिए कहता हूं नींद पूरी ले।

बढ़ती उम्र हो जाती है और देवसर:
पूरी नींद नहीं लेने से या नहीं लेने वालों को बढ़ती उम्र के कोई लक्षण घेरते हैं ।एक व्यापक शोध से पता चला है कि  की पत्नी 6 से 7 घंटे नींद देने वाले 4.5 घंटे से कम सोने वाले की उमर कम हो जाती है ।


बीमारियों से बचाव:
भरपूर नींद सोने वालों में हमारे बीमारियां भी कम होती है। रात मेंअच्छी नींद  लेने के बाद दूसरे दिन जो चुस्ती एवं ताजगी महसूस होती है वह किसी टॉनिक  के समान होती है ।इससे आपकी कर्यशमता  भर्ती है ।बेहतर कम काम कर सकते हैं ।आप भी अपनी राय के अनुसार  अच्छी नींद लीजिए।
अगले पोस्ट में कैसे नींद लेनी है वो में आपको बताऊंगा।
                                                               धन्यवाद
    



Post a comment

0 Comments